मिज़ाज-ए-इंतज़ार

कुछ ऐसा ही मिज़ाज है इंतज़ार का, मेरी कलम से ! मिलने और बिछड़ने के बीच उम्मीद ही एक ऐसी कड़ी है जो इंतज़ार कभी थमने नहीं देती ।

New Year Gift for my blog family!!

Hey, I hope you are doing good in life. I have been thinking for a long time to post this but I think that this cannot go later than this. Blogging has been a beautiful journey with my family of fellow bloggers. I have learnt a lot from all of you, more than I could … Continue reading New Year Gift for my blog family!!

लोग कहेगें!

क्या? नौकरी नहीं करती ? तो घर कैसे चलाएगी ? अजी, कविता लिखती है, कहानियां बनाती है । भला, इस काम से पैसे क्या कमाएगी ? अगर पैसे नहीं कमाएगी, तो बोझ बन कर रह जाएगी । अरे! बेटी ही है साहब, अफ़सर कहाँ बन पाएगी । देर से घर आएगी, सुबह को जल्दी जाएगी, … Continue reading लोग कहेगें!

DIWALI..

The auspicious festival of Deepavali (or Diwali, as most people call it) is round the corner. This year, it is on October 27. And the celebrations are massive. Before I begin writing the post further, let me give a brief intro to all the readers. This piece is created to highlight the auspicious Hindu festival, … Continue reading DIWALI..

सफ़र, अंजाम तक!

मंज़िले अंजान हैं, मगर रास्ते कर रहे वफा हैं । खोए हुए थे अब तक, देखो आ चले कहाँ हैं । तारे चल रहे साथ मगर, चाँद बने हमसफर हैं । रात का यह सफर, आखिर क्या बयाँ कर रहा है? लहरें उस उफान पर, मचलती हुई बेबाक हैं । हवाएँ हैं मंद मंद, शीतल … Continue reading सफ़र, अंजाम तक!

मेरी इबादत है ।

दिल से तुम्हें देख लिया, तो छूना मुनासिब क्यों नहीं? तुम्हें महसूस कर लिया, क्या यह मोहब्बत के लिए काफी नहीं? दुनिया जहाँ में, लाखों की भीड़ में, तुम्हें पहचान पाना, मेरा इम्तिहान है। क्या इम्तिहान की जीत में, तुम्हें जीत जाना, इस ज़िंदगी का ईनाम नहीं? कहती है दुनिया प्यार जीत का नाम है, … Continue reading मेरी इबादत है ।

Plants :- My feelings

Nature is the epitome of beauty on Earth. If I can ever say, that there is heaven on Earth it is definitely going to be in the lap of nature. Imagine a yellowish green banyan tree, sprinkling pearl like drops of water on the ground, surrounded with grass. Petals of flowers showering with the rhythm … Continue reading Plants :- My feelings

यह मोहब्बत है, मेरी जान

बारिश की फुहार, हवाओं की बहार। मोरनी का नाच, झिंगुर की झंकार। भीगे हुए मन, भीगी हुई हर बात। भीगी-भीगी शाम, और उस शाम की मुलाकात। तरसते हुए हम, बरसता रहा प्यार। भीगे हुए तन, को, होंठों की पुकार। प्यार में घुलते हुए पल, पल पल में बढ़ती हुई प्यास। तेरी रूह को छूने का … Continue reading यह मोहब्बत है, मेरी जान